वयोवृद्ध बारासिंघा की स्वाभाविक मृत्यु

वन विहार राष्ट्रीय उद्यान भोपाल में वयोवृद्ध बारसिंघा 20 फरवरी को देर शाम मृत पाया गया। उल्लेखनीय है कि वर्ष 2015 में कान्हा टाईगर रिजर्व से सात बारासिंघा वन विहार लाये गये थे, जिनकी संख्या सात से बढ़कर सत्रह हो गई थी। उक्त मादा बारासिंघा की मृत्यु उपरांत वर्तमान में वन विहार में सोलह बारासिंघा मौजूद है।


वन विहार के वन्यप्राणी चिकित्सक डॉ. अतुल गुप्ता एवं उनके दल द्वारा 21 फरवरी को मृत बारासिंघा का पोस्टमार्टम किया गया। पोस्टमार्टम में प्रथम दृष्टया मादा बारासिंघा की मृत्यु अतिवृद्ध होने के कारण आंतरिक अंगों का काम न करना पाया गया। यह उसकी स्वाभाविक मृत्यु हुई है। मादा बारासिंघा को संचालक वन विहार श्रीमती कमलिका मोहंता एवं सहायक संचालक श्री ए.के. जैन एवं अन्य स्टाफ की उपस्थिति में अग्नि को समर्पित किया गया।


Popular posts
पैडी ट्रांसप्लांटर मशीन से धान की रोपाई हुई आसान
रामनगर बाराबंकीअधिशाषी अभियंता कार्यालय रामनगर के परिसर में नवनिर्मित द्वितीय कार्यालय का शुभारम्भ क्षेत्रीय विधायक शरद अवस्थी ने पारंपरिक रूप से फीता काट कर किया।उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि विधायक शरद अवस्थी ने भाजपा सरकार की प्रशंसा करते हुए कहा कि भाजपा सरकार और समाज के समन्वय का ही परिणाम है।कि प्रदेश में विकास कार्य दिखाई देने लगा है।उन्होंने कहा कि क्षेत्र के विकास में चार चीजों पानी बिजली शिक्षा व सड़क की आवश्यकता होती है।जो शासन की प्राथमिकता है।इस मौके पर अधिशासी अभियंता रामनगर हर्षित श्रीवास्तव,एसडीएम जितेंद्र कटियार,एसडीओ रामनगर विकास सोनी,जेई सिरौलीगौसपुर बी डी यादव,एसडीओ मसौली प्रेमसिंह पटेल मंडल अध्यक्ष कमलेश शुक्ला,शैलेंद्र सिंह सहित विभाग के समस्त अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहे।
जानिए भारत के बारे में
Image