सोनभद्र :दुर्घटना को दावत देता सोन नदी का पुराना पुल, लंबे वक्त से मरम्मत के नाम पर हो रही है आम जनमानस को समस्या

चोपन (सोनभद्र) : चोपन स्थित सोन नदी के पुराने पुल को मरम्मत के नाम पर अक्सर बंद कर दिया जाता है जिसके कारण वाराणसी शक्तिनगर मार्ग पर गुजरने वाले यात्रियों को इससे काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है,  वाराणसी शक्तिनगर मार्ग पर लंबी यात्रा करने वाले यात्रियों को कई बार यह तक नहीं पता चल पाता कि वाराणसी शक्तिनगर मार्ग का पुराना पुल सक्रिय है अथवा नहीं जिसके कारण बीते सालों में कई दुर्घटनाएं भी हो चुकी हैं स्थानीय लोगों की मानें तो सोन नदी के पटवध क्षेत्र के टर्निंग पर प्रायः सड़क निर्माण कंपनी सीमेंट के बड़े-बड़े ब्लैकेड लगाकर टर्निंग पर सड़क को बंद कर देती है जिसकी कोई ना पूर्व सूचना दी जाती है नहीं सड़क को रोकने के स्थान पर कोई इंडिकेशन दिया जाता है जिससे यह पता चल सके कि सड़क बंद है जिसके कारण कई बार बड़ी दुर्घटनाएं भी हो चुकी है बावजूद सड़क निर्माण कंपनी अपने ही धुन में मगन होकर सड़क निर्माण का काम कर रही है ,वहीं बीते 2 साल से लगातार सड़क के मरम्मत के नाम पर प्रायः नए पुल से ही वाहनों को आना और जाना पड़ता है जिसके कारण कई बार वाहनों की टक्कर भी हो चुकी है जिसे देखते हुए भारतीय जनता पार्टी के चोपन मंडल अध्यक्ष सुनील सिंह,व्यापार मंडल अध्यक्ष संजय जैन ,बिट्टू सिंह, राहुल पटेल समेत कई स्थानीय लोगों द्वारा पुल की मरम्मत कर रहे अधिकारियों को पुल के मरम्मत को रोकने का अनुरोध किया तथा सड़क निर्माता कंपनी से इस संबंध में पूर्ण जानकारी लेने के बाद ही पुल की मरम्मत के काम को पुनः सक्रिय करने को कहा भाजपा मंडल अध्यक्ष ने पुल की मरम्मत कर रहे अधिकारियों से कहा कि यदि पुल वाहनों को ढोने में सक्षम नहीं है तो इसे पूर्ण रूप से बंद कर दिया जाए जिससे निकट भविष्य में किसी बड़ी अनहोनी घटना को रोका जा सके ,साथ ही बेहतर मरम्मत कर उसके बाद ही इसे सक्रिय किया जाए ,महीने -महीने पुल को बंद कर कर स्थानीय लोगों के जीवन को संकट में ना डाला जाए।