शराब माफिया को गिरफ्तार करने गई पटना पुलिस

राजधानी पटना में लोगों ने उस समय पुलिस टीम पर हमला कर दिया, जब वह एक शराब माफिया को गिरफ्तार करने उसके घर पहुंचे। इतना ही नहीं, लोगों ने हमला कर आरोपी को भी पुलिस की गिरफ्त से छुड़ा लिया। मामला पटना से सटे बिक्रम क्षेत्र का है। यहां पुलिस को शराब माफिया करीमन सिंह की सूचना मिली थी। सूचना के बाद पुलिस उसके घर पहुंची। वहीं जब पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया तो उसके लोगों ने पुलिस पर हमला कर दिया। हमला करने के बाद लोग आरोपी को पुलिस गिरफ्त से ले भगा ले गए। आरोपी के परिवार और साथी लोगों ने पुलिस पर जमकर हमला किया। इतना ही नहीं, लोगों ने एसआई जयप्रकाश सिंह और सिपाही संतोष कुमार का बंदूक और मैगजीन छीनने का प्रयास भी किया। इस दौरान सिपाही के मैगजीन का लॉक टूट गया और गोली वहीं गिर गई। जब इसकी सूचना वरीय पुलिस अधिकारी को मिली तो कई थानों की पुलिस ने मौके पर पहुंचकर पूरे गांव को चारों तरफ से घेर लिया। हालांकि, पुलिस को शराब माफिया करीमन सिंह नहीं मिला। वहीं बिक्रम थानाध्यक्ष रितुराज सिंह ने बताया कि पूर्व से आरोपी करीमन सिंह कई बार शराब के केस में जेल जा चुका है और अभी भी कई मामले दर्ज है। इसी संबंध में गुप्त सूचना मिली थी कि करीमन सिंह फिर से अपने गांव आया हुआ है, जिसके बाद पुलिस उसे गिरफ्तार करने के लिए गांव गई। वहीं लोगों ने पुलिस टीम पर हमला करते हुए आरोपी को पुलिस गिरफ्त से छुड़ा लिया। इस हमले में लगभग आधा दर्जन पुलिसकर्मी घायल हुए जिसमें दो की हालत गंभीर बताई जाए। वहीं पुलिस ने छापेमारी कर आरोपी के घर से लगभग 837 बोतल अंग्रेजी शराब एवं 4 किलो गांजा भी बरामद किया। फिलहाल पुलिस पर हमला करने वालों पर प्राथमिकी दर्ज कर आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है।