"साहीवाल" उन्नत किस्म के गौवंश बढ़ाने में अग्रणी नंदी

प्रदेश में दूध उत्पादन को बढ़ावा देने के लिये उन्नत नस्ल के गौवंश प्रजनन में वृद्धि पर लिये विशेष ध्यान दिया जा रहा है। पशुपालन विभाग के अधीन भदभदा स्थित मदर बुल फार्म में उन्नत किस्म के अनेक नंदी रखे गये हैं। इनमें विशेष रूप से साहीवाल नस्ल के 21 नंदी हैं, जो विभिन्न प्रकार की विशेषताओं के साथ कृत्रिम गर्भाधान के लिये रखा गया है।


प्रबंध संचालक मदर बुल फार्म श्री एच.बी.एस. भदौरिया ने बताया कि साहीवाल नंदी एसएएच कोड में पंजीकृत है। इनमें एसएएस 262 की उम्र लगभग 11 वर्ष है। इसे राष्ट्रीय डेरी अनुसंधान से क्रय किया गया है। इस नंदी की माँ द्वारा दूध देने की अवधि में 3675 किलोग्राम दूध की मात्रा दर्ज की गई है। इसी तरह, सायर की माँ द्वारा दूध देने की निर्धारित अवधि में दिए गए दूध की मात्रा 3629 किलोग्राम दर्ज की गई है।


मदर बुल फार्म में रखे गये सभी नंदियों का समय-समय पर अनुवांशिक स्वास्थ्य परीक्षण भी किया जाता है। केरयोटायपिंग, ब्लेड, डम्पस, सिटूलिमनिया एवं फेक्टर-XI एवं डेफिसियेंसी संबंधी अनुवांशिक विभाग के संबंध में संपूर्ण परीक्षण किया गया है।