हार्दिक पटेल को सुप्रीम कोर्ट से राहत, 6 मार्च तक मिली अग्रीम जमानत

सुप्रीम कोर्ट ने पाटीदार और कांग्रेस नेता हार्दिक पटेल को बड़ी राहत दी है। गुजरात में पाटीदार आरक्षण आंदोलन के दौरान हुई हिंसा के सिलसिले में पटेल को 6 मार्च तक अग्रिम जमानत दे दी। हार्दिक पटेल के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया गया था। न्यायमूर्ति यूयू ललित और विनीत सरन की पीठ ने गुजरात सरकार को हार्दिक पटेल की याचिका पर नोटिस जारी किया है। पीठ ने कहा, 'मामला 2015 में दर्ज किया गया था और जांच अभी भी लंबित है। आप पांच सालों तक एक ही मामले पर नहीं बैठ सकते हैं।'वहीं, हार्दिक पटेल की पत्नी किंजल ने ट्वीटर पर लिखा, 'गुजरात की तानाशाही, हिटलरवादी भाजपा सरकार ने किसान और नौजवानों के आंदोलनकारी हार्दिक पटेल पर तीस से अधिक झूठे मुकदमे दर्ज किए हैं। जिसके विरोध में दो मार्च को गुजरात के विभिन्न तहसीलों में पटेल पर लगे झूठे मुकदमे वापिस लेने की मांग के साथ तहसीलदारों को आवेदन किया जाएगा। साल 2015 में पाटीदार नेता हर्दिक पटेल के नेतॉत्व में पाटीदार अनामत आंदोलन समिति ने अहमदाबाद में एक मेगा रैली का आयोजन किया था। गैरकानूनी रूप से इक्ट्ठा होने को लेकर पुलिस ने एफआइआर दर्ज की थी। पुलिस ने दावा किया था कि इस रैली के लिए आवश्यक अनुमति नहीं ली गई थी।


Popular posts
रामनगर बाराबंकीअधिशाषी अभियंता कार्यालय रामनगर के परिसर में नवनिर्मित द्वितीय कार्यालय का शुभारम्भ क्षेत्रीय विधायक शरद अवस्थी ने पारंपरिक रूप से फीता काट कर किया।उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि विधायक शरद अवस्थी ने भाजपा सरकार की प्रशंसा करते हुए कहा कि भाजपा सरकार और समाज के समन्वय का ही परिणाम है।कि प्रदेश में विकास कार्य दिखाई देने लगा है।उन्होंने कहा कि क्षेत्र के विकास में चार चीजों पानी बिजली शिक्षा व सड़क की आवश्यकता होती है।जो शासन की प्राथमिकता है।इस मौके पर अधिशासी अभियंता रामनगर हर्षित श्रीवास्तव,एसडीएम जितेंद्र कटियार,एसडीओ रामनगर विकास सोनी,जेई सिरौलीगौसपुर बी डी यादव,एसडीओ मसौली प्रेमसिंह पटेल मंडल अध्यक्ष कमलेश शुक्ला,शैलेंद्र सिंह सहित विभाग के समस्त अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहे।