घर में खुशहाली के लिए ऐसे करें भगवान गणेश की स्थापना

कोई भी शुभ काम शुरू करने से पहले भगवान गणेश की पूजा की जाती है. सभी देवी-देवताओं में भगवान गणेश प्रथम पूजनीय माने जाते हैं, इसलिए घर हो या दुकान सभी जगह गणेश जी की मूर्ति या फोटो रखी जाती है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि यदि सही समय पर और सही तरीके से भगवान गणेश की मूर्ति की स्थापना की जाए तो घर में हमेशा सुख-समृद्धि बनी रहती है. आज हम आपको बताते हैं कि श्री गणेश की मूर्ति स्थापित करते समय किन-किन बातों का ध्यान रखना चाहिए-
किस जगह कैसी मूर्ति रखना होगा शुभ-
घर में भगवान गणेश की बैठी मुद्रा में और दुकान या ऑफिस में खड़े गणपति की मूर्ति रखना बहुत ही शुभ माना जाता है.
घर या दुकान में मूर्ति रखते समय ध्यान रखें कि उनके दोनों पैर जमीन को स्पर्श कर रहे हों. इससे कामों में स्थिरता और सफलता आती है.
यदि आप चाहते हैं कि आपके घर में सभी कार्य मंगलमय हो तो आपको सिंदूरी रंग के गणपति की आराधना करनी चाहिए. ऐसा करने से सभी मनोकामनाएं जल्दी पूरी हो जाती हैं.
किस ओर हो श्री गणेश की सूंड-
गणेश जी की मूर्ति की स्थापना के समय इस बात का ध्यान रखें की उनकी सूंड बाएं हाथ की ओर घुमी हुई हो. दाएं हाथ की ओर घुमी हुई सूंड वाले गणेश जी हठी माने जाते हैं.
मूर्ति में ये दो चीजें अवश्य हों-
घर में श्री गणेश का चित्र लगाते समय ध्यान रखें कि चित्र में मोदक और चूहा अवश्य हो. इससे घर में बरकत रहती है.
मेन गेट पर कैसे लगाएं भगवान गणेश की मूर्ति-
घर के मेन गेट पर गणपति की दो मूर्ति या चित्र लगानी चाहिए. दोनों मूर्तियों को ऐसे लगाएं कि दोनों गणेश जी की पीठ आपस में मिली रहे. ऐसा करने से सभी वास्तु-दोष खत्म हो जाते हैं.
सुख-शांति के लिए घर लाएं ऐसी मूर्ति-
घर में खुशहाली बनाए रखने के लिए अपने घर सफेद रंग के बप्पा लाएं.
घर में इस जगह जरूर लगाएं श्रीगणेश का चित्र-
घर के केंद्र में और पूर्व दिशा में मंगलकारी श्री गणेश की मूर्ति लगाना बेहद शुभ माना जाता है.


Popular posts
पैडी ट्रांसप्लांटर मशीन से धान की रोपाई हुई आसान
रामनगर बाराबंकीअधिशाषी अभियंता कार्यालय रामनगर के परिसर में नवनिर्मित द्वितीय कार्यालय का शुभारम्भ क्षेत्रीय विधायक शरद अवस्थी ने पारंपरिक रूप से फीता काट कर किया।उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि विधायक शरद अवस्थी ने भाजपा सरकार की प्रशंसा करते हुए कहा कि भाजपा सरकार और समाज के समन्वय का ही परिणाम है।कि प्रदेश में विकास कार्य दिखाई देने लगा है।उन्होंने कहा कि क्षेत्र के विकास में चार चीजों पानी बिजली शिक्षा व सड़क की आवश्यकता होती है।जो शासन की प्राथमिकता है।इस मौके पर अधिशासी अभियंता रामनगर हर्षित श्रीवास्तव,एसडीएम जितेंद्र कटियार,एसडीओ रामनगर विकास सोनी,जेई सिरौलीगौसपुर बी डी यादव,एसडीओ मसौली प्रेमसिंह पटेल मंडल अध्यक्ष कमलेश शुक्ला,शैलेंद्र सिंह सहित विभाग के समस्त अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहे।
जानिए भारत के बारे में
Image