EZC की बैठक में CM नीतीश की मांग- बिहार को मिलना चाहिए विशेष श्रेणी के दर्जा

भुवनेश्वर में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की अध्यक्षता में पूर्वी क्षेत्रीय परिषद (ईजेडसी) की बैठक हुई। इस बैठक में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राज्य के लिए विशेष श्रेणी के दर्जे की मांग की। नीतीश ने कहा कि बिहार को उसका ‘हक' मिलना चाहिए जिससे वह तेज गति से प्रगति कर सके और कुल मिलाकर देश के विकास में बेहतर योगदान करे। नीतीश ने 2005 में जब पहली बार प्रदेश की सत्ता संभाली थी, वह तब से राज्य के लिए विशेष दर्जे की मांग कर रहे हैं। बिहार राज्य के कम विकसित राज्यों में से एक है और विकास के कई मानकों पर राष्ट्रीय औसत से कम है। ईजेडसी में अपने संबोधन में नीतीश ने पूर्वी क्षेत्र में अंतरराज्यीय मुद्दों के समाधान के लिए एक तंत्र विकसित करने का भी आह्वान किया। इन राज्यों में समान सांस्कृतिक विरासत है और ये एक जैसी समस्याओं का ही सामना भी करते हैं। बिहार में अप्रैल 2016 से प्रभावी मद्य निषेध के सकारात्मक प्रभावों को रेखांकित करते हुए मुख्यमंत्री ने राज्य में पड़ोसी प्रदेशों झारखंड और पश्चिम बंगाल से तस्करी कर लाई जा रही शराब पर चिंता व्यक्त की। साथ ही उन राज्य सरकारों से इस पर प्रभावी लगाम लगाने का अनुरोध किया।


Popular posts
रामनगर बाराबंकीअधिशाषी अभियंता कार्यालय रामनगर के परिसर में नवनिर्मित द्वितीय कार्यालय का शुभारम्भ क्षेत्रीय विधायक शरद अवस्थी ने पारंपरिक रूप से फीता काट कर किया।उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि विधायक शरद अवस्थी ने भाजपा सरकार की प्रशंसा करते हुए कहा कि भाजपा सरकार और समाज के समन्वय का ही परिणाम है।कि प्रदेश में विकास कार्य दिखाई देने लगा है।उन्होंने कहा कि क्षेत्र के विकास में चार चीजों पानी बिजली शिक्षा व सड़क की आवश्यकता होती है।जो शासन की प्राथमिकता है।इस मौके पर अधिशासी अभियंता रामनगर हर्षित श्रीवास्तव,एसडीएम जितेंद्र कटियार,एसडीओ रामनगर विकास सोनी,जेई सिरौलीगौसपुर बी डी यादव,एसडीओ मसौली प्रेमसिंह पटेल मंडल अध्यक्ष कमलेश शुक्ला,शैलेंद्र सिंह सहित विभाग के समस्त अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहे।