WHO ने ‘कोरोना वायरस’ को इंटरनैशनल इमर्जेंसी घोषित किया

(जी.एन.एस) ता.31
जेनेवा
विश्व में कोरोना वायरस का प्रकोप बढ़ता जा रहा है और अब तक इसके 7834 मामलों की पुष्टि हो गई है जिनमें 7736 मामले अकेले चीन के हैं, जहां से इस वायरस का प्रसार हुआ है। वहीं डब्ल्यूएचओ ने कोरोना वायरस को अंतराष्ट्रीय जन स्वास्थ्य आपदा घोषित कर दिया है। WHO चीफ टेड्रोस ऐडनम ने बताया है कि सबसे बड़ी चिंता ऐसे देशों में वायरस को फैलने से रोकने की है जहां स्वास्थ्य व्यवस्थाएं कमजोर हैं। टेड्रोस ने बताया, हम सबको एक साथ मिलकर इसे और ज्यादा फैलने से रोकना चाहिए। हम इसे सिर्फ एक साथ रोक सकते हैं। बता दें कि कई देशों ने अपने नागरिकों से वुहान नहीं जाने के लिए कहा है। कई देशों ने वुहान से आने वाले लोगों पर भी प्रतिबंध लगा दिया है। रूस ने चीन के साथ अपने पूर्वी बॉर्डर को भी बंद कर दिया है।
विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की गुरुवार की रिपोर्ट के अनुसार चीन में इस वायरस से 7736 लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हो गई है। इसके अलावा इस देश में 12,167 लोगों के इस वायरस से संक्रमित होने का संदेह भी है। चीन में इस वायरस से अबतक 212 लोगों की मौत हो गई है। रिपोर्ट के अनुसार चीन से बाहर 18 देशों में कोरोना वायरस के 82 मामलों की पुष्टि हुई है। थाईलैंड में 14, जापान में 11, सिंगापुर में 10, दक्षिण कोरिया में चार, ऑस्ट्रेलिया और मलेशिया में सात-सात, अमेरिका और फ्रांस में पांच-पांच,जर्मनी और संयुक्त अरब अमीरात में चार-चार और कनाडा में कोरोना वायरस के तीन मामलों की पुष्टि हुई है। इसके अलावा वियतनाम में दो, कंबोडिया, फिलिपींस, नेपाल, श्रीलंका, भारत और फिनलैंड में एक-एक कोरोना वायरस के मामलों की पुष्टि हुई है