चीनी ऐप बैन का असरः अलीबाबा ने भारत से समेटा UC Browser का कारोबार

" alt="" aria-hidden="true" />


Breaking news Breaking news Breaking news Breaking news Breaking news Breaking news Breaking news Breaking news Breaking news Breaking news Breaking news Breaking news Breaking news Breaking news Breaking news Breaking news Breaking news Breaking news Breaking news Breaking news Breaking news Breaking news Breaking news Breaking news Breaking news Breaking news Breaking news


नई दिल्ली. भारत सरकार की ओर से 59 चीनी ऐप्स बंद करने के फैसले के बाद देश में असर नजर आने लगा है। चीन की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी अलीबाबा ने भारत से यूसी ब्राउजर, वीमैट और यूजी न्यूज का कारोबार बंद कर दिया है। यूसी ब्राउजर के कर्मचारियों को औपचारिक तौर पर बोल दिया गया है कि कंपनी अपने ऑपरेशंस भारत में बंद कर रही है। कंपनी ने गुरुग्राम और मुंबई का ऑफिस बंद कर दिया है। 



रायटर्स के मुताबिक, कंपनी की तरफ से 15 जुलाई को कर्मचारियों को एक लेटर भेजकर इसकी जानकारी दी गई है। लेटर में कहा गया है कि कंपनी का यह फैसला भारत सरकार द्वारा UCWeb और Vmate पर लगाए गए प्रतिबंध के कारण है। बैन के बाद कंपनी को सेवाएं जारी रखने की क्षमता में बाधा आ रही है। यूसीवेब ने एक बयान में कहा कि इसने सरकारी आदेश का अनुपालन किया और सेवाएं बंद कर दीं। हालांकि, चीनी ई-कॉमर्स दिग्गज अलीबाबा ने टिप्पणी करने से इनकार कर दिया।
यूसी ब्राउजर के कर्मचारियों को यह भी कहा गया है कि कंपनी उन्हें कंपनसेट करेगी यानी कि तनख्वाह की रकम का हिस्सा या कुछ महीने की तनख्वाह दी जाएगी। यूसी ब्राउजर अलीबाबा की कंपनी है और भारत में यह सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाला ऐप था। हाल ही में भारत-चीन विवाद के बाद भारत सरकार ने आंतरिक सुरक्षा का हवाला देते हुए चीन के 59 ऐप्स पर पाबंदी लगा दी थी। इन सभी कंपनियों को सरकार ने अपना पक्ष रखने के लिए कहा था। इस बीच अलीबाबा ने बिना कोई सफाई दिए ही कारोबार समेटने का फैसला किया है।


Popular posts
रामनगर बाराबंकीअधिशाषी अभियंता कार्यालय रामनगर के परिसर में नवनिर्मित द्वितीय कार्यालय का शुभारम्भ क्षेत्रीय विधायक शरद अवस्थी ने पारंपरिक रूप से फीता काट कर किया।उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि विधायक शरद अवस्थी ने भाजपा सरकार की प्रशंसा करते हुए कहा कि भाजपा सरकार और समाज के समन्वय का ही परिणाम है।कि प्रदेश में विकास कार्य दिखाई देने लगा है।उन्होंने कहा कि क्षेत्र के विकास में चार चीजों पानी बिजली शिक्षा व सड़क की आवश्यकता होती है।जो शासन की प्राथमिकता है।इस मौके पर अधिशासी अभियंता रामनगर हर्षित श्रीवास्तव,एसडीएम जितेंद्र कटियार,एसडीओ रामनगर विकास सोनी,जेई सिरौलीगौसपुर बी डी यादव,एसडीओ मसौली प्रेमसिंह पटेल मंडल अध्यक्ष कमलेश शुक्ला,शैलेंद्र सिंह सहित विभाग के समस्त अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहे।